Hindi Story, Hindi Poem, Hindi Kavita, Hindi Kahani, Hindi Article

कुछ नुस्खे : लहसुन के बड़े फायदे .

लहसुन की 5 कलियों को थोड़ा पानी डालकर पीस लें और उसमें 10 ग्राम शहद मिलाकर सुबह - शाम सेवन करें. इस उपाय को करने से सफेद बाल काले हो जाएंगे। यदि रोज नियमित रूप से लहसुन की पाँच कलियाँ खाई जाएँ तो हृदय संबंधी रोग होने की संभावना में कमी आती है. इसको पीसकर त्वचा पर लेप करने से विषैले कीड़ों के काटने या डंक मारने से होने वाली जलन कम हो जाती है।




लहसुन सिर्फ खाने के स्वाद को ही नहीं बढ़ाता बल्कि शरीर के लिए एक औषधी की तरह भी काम करता है. 
इसमें प्रोटीन, विटामिन, खनिज, लवण और फॉस्फोरस, आयरन व विटामिन ए, बी व सी भी पाए जाते हैं. 
लहसुन शरीर की रोग प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ाता है. भोजन में किसी भी तरह इसका सेवन करना शरीर के 
लिए बेहद फायदेमंद होता है आज हम बताने जा रहे हैं आपको औषधिय गुण से भरपूर लहसुन के कुछ ऐसे 
हीनुस्खों के बारे में जो नीचे लिखी स्वास्थ्य समस्याओं में रामबाण है। 
1-100 ग्राम सरसों के तेल में दो ग्राम (आधा चम्मच) अजवाइन के दाने और आठ - दस लहसुन की कुली 
डालकर धीमी - धीमी आंच पर पकाएं. जब लहसुन और अजवाइन काली हो जाए तब तेल उतारकर ठंडा कर 
छान लें और बोतल में भर दें. इस तेल को गुनगुना कर इसकी मालिश करने से हर 
प्रकार का बदन का दर्द दूर हो जाता है। 
2 -. लहसुन की एक कली छीलकर सुबह एक गिलास पानी से निगल लेने से रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर 
नियंत्रित रहता है साथ ही ब्लडप्रेशर भी कंट्रोल में रहता है। 
3 - लहसुन डायबिटीज के रोगियों के लिए भी फायदेमंद होता है. यह शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में 
कारगर साबित होता है। 
4 - खांसी और टीबी में लहसुन बेहद फायदेमंद है. लहसुन के रस की कुछ बूंदे रुई पर डालकर सूंघने से सर्दी 
ठीक हो जाती है। 
5 - लहसुन दमा के इलाज में कारगर साबित होता है. 30 मिली लीटर दूध में लहसुन की पांच कलियां उबालें 
और इस मिश्रण का हर रोज सेवन करने से दमे में शुरुआती अवस्था में काफी फायदा मिलता है. अदरक की 
गरम चाय में लहसुन की दो पिसी कलियां मिलाकर पीने से भी अस्थमा नियंत्रित रहता है। 
6 - लहसुन की दो कलियों को पीसकर उसमें और एक छोटा चम्मच हल्दी पाउडर मिला कर क्रीम बना ले इसे 
सिर्फ मुहांसों पर लगाएं. मुहांसे साफ हो जाएंगे। 
7 - लहसुन की दो कलियां पीसकर एक गिलास दूध में उबाल लें और ठंडा करके सुबह शाम कुछ दिन पीएं 
दिल से संबंधित बीमारियों में आराम मिलता है.
8 - लहसुन के नियमित सेवन से पेट और भोजन की नली का कैंसर और स्तन कैंसर की सम्भावना कम हो 
जाती है। 
9 - नियमित लहसुन खाने से ब्लडप्रेशर नियमित रहता है. एसीडिटी और गैस्टिक ट्रबल में भी इसका प्रयोग ​​
फायदेमंद होता है. दिल की बीमारियों के साथ यह तनाव को भी नियंत्रित करती है। 
10 - लहसुन की 5 कलियों को थोड़ा पानी डालकर पीस लें और उसमें 10 ग्राम शहद मिलाकर सुबह - शाम 
सेवन करें. इस उपाय को करने से सफेद बाल काले हो जाएंगे। 
11 - यदि रोज नियमित रूप से लहसुन की पाँच कलियाँ खाई जाएँ तो हृदय संबंधी रोग होने की संभावना में 
कमी आती है. इसको पीसकर त्वचा पर लेप करने से विषैले कीड़ों के काटने या डंक मारने से होने वाली जलन 
कम हो जाती है। 
12 - जुकाम और सर्दी में तो यह रामबाण की तरह काम करता है. पाँच साल तक के बच्चों में होने वाले 
प्रॉयमरी कॉम्प्लेक्स में यह बहुत फायदा करता है. लहसुन को दूध में उबालकर पिलाने से बच्चों की रोग 
प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है. लहसुन की कलियों को आग में भून कर खिलाने से बच्चों की साँस चलने की 
तकलीफ पर काफी काबू पाया जा सकता है। 
13 - लहसुन गठिया और अन्य जोड़ों के रोग में भी लहसुन का सेवन बहुत ही लाभदायक है.
लहसुन की बदबू -
अगर आपको लहसुन की गंध पसंद नहीं है कारण मुंह से बदबू आती है. मगर लहसुन खाना भी जरूरी है तो 
रोजमर्रा के लिये आप लहसुन को छीलकर या पीसकर दही में मिलाकर खाये तो आपके मुंह से बदबू नहीं 
आयेगी. लहसुन खाने के बाद इसकी बदबू से बचना है तो जरा सा गुड़ और सूखा धनिया मिलाकर मुंह में 
डालकर चूसें कुछ देर तक, बदबू बिल्कुल निकल जायेगी....
Reactions:

Post a Comment

कृपया अपनी राय दे ,आपके सुझाव हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं |

loading...
[facebook][blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget